Wed. Aug 21st, 2019

Himachal Live

Himachal News

वोकेशनल टीचरों के साथ खिलवाड़ कर रही है सरकार और कम्पनियां

1 min read

शिमला | हिमाचल प्रदेश को इसी वर्ष वोकेशनल शिक्षा में सराहनीय कार्य करने पर भारतवर्ष में द्वितीय स्थान मिला था लेकिन यहां के विद्यालयों में कार्यरत 2 हजार के लगभग वोकेशनल टीचरों की न तो सरकार सुध ले रही है और न ही इनकी हालात को गम्भीरता से लिया जा रहा है ।आलम यह है कि 3-4 महीने से वेतन न मिलने के कारण वोकेशनल टीचर का इस महँगाई के दौर में अपना व परिवार का भरण पोषण ममुश्किल हो गया है।

जयराम सरकार भी इनकी स्थिति को गम्भीरता से नही ले रही है और ऊपर से कुछ कम्पनिया मनमानी कर रही है।एमओयू के अनुसार कम्पनियो को फंड रिलीज न होने की स्थिति में 3 महीने तक अपनी तरफ से वेतन देना होता है लेकिन वेतन देना तो दूर कई कम्पनिया आरएमएसए से फंड मिलने के बाद भी वेतन नही दे रही है और मनमर्जी से वेतन में कटौती कर रही है । वोकेशनल शिक्षको ने मांग की है कि ऐसी कम्पनियो को ब्लैकलिस्ट कर के आरएमएसए अपने या किसी अछि कम्पनी में सभी वोकेशनल टीचरों को ले । जिससे की इनकी समस्याओ का समाधान हो सके। और वोकेशनल संघ ने कहा कि मनमानी व एमओयू के अनुसार काम न करने वाली कम्पनी की लिस्ट आरएमएसए व सरकार को भेज दी गयी है और जल्दी ही इनपे कारवाई की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *